blogid : 760 postid : 657930

हमको मालूम है जन्नत की हकीकत

Posted On: 30 Nov, 2013 मेट्रो लाइफ,social issues में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

marriagesविवाह को जीवन का सबसे अनमोल पल माना जाता है. जब दो लोग एक-दूसरे को तन-मन से स्वीकार करते हैं तो उसे सामाजिक और पारिवारिक मान्यता देते हुए उन्हें विवाहित बंधन में बांध दिया जाता है. इतना ही नहीं भारतीय परिप्रेक्ष्य में तो यह बंधन इतना मजबूत माना जाता है कि शादी के बाद पति-पत्नी सात जन्मों के लिए एक-दूसरे के प्रति समर्पित होने तक की कसम भी खा लेते हैं. विवाह की इसी महत्ता को देखते हुए अनेक दार्शनिकों और लोकर्पिय सिलेब्रिटीज ने विवाह से जुड़े अपने-अपने विचार निम्नलिखित तरीके से प्रस्तुत किए हैं:



बुद्ध: आपके प्रेम की, इस समूची सृष्टि में अन्य किसी से भी अधिक आवश्यकता स्वयं आपको है।




स्वामी विवेकानंद: कोई भी व्यक्ति पत्नी को केवल पत्नी होने के कारण प्रेम नहीं करता और न ही कोई स्त्री अपने पति को केवल पति होने के नाते प्रेम करती है। पत्नी में जो परमात्म तत्व है उसी से पति प्रेम करता है और पति में जो परमेश्वर है, उसी से पत्नी प्रेम करती है।




सुकरात: शादी जरूर करनी चाहिए। अगर आपको अच्छी पत्नी मिल गई तो आप ख्ाुशहाल जीवन जिएंगे, वरना दार्शनिक बनने का रास्ता तो खुला ही है।




ओशो: विवाह संस्था केवल इसलिए विफल हो गई, क्योंकि उसकी अपेक्षाओं के अनुरूप लोगों का आत्मिक विकास नहीं हो सका। लोग अपनी बर्बरताएं, ईर्ष्याएं, लालसाएं.. कुछ भी तो नहीं छोड सके।




मार्लिन मुनरो, अमेरिकी अभिनेत्री शादी से पहले लडकी को किसी आदमी से इसलिए प्यार करना पडता है कि कहीं वह हाथ से निकल न जाए। बाद में उसे आदमी को इसलिए पकडे रखना पडता है कि वह उसे प्यार करता रहे।




बेंजामिन फ्रैंक्लिन, अमेरिकी राजनेता: जहां कहीं भी बिना प्यार के शादी होगी, वहां शादी के बगैर प्यार भी होगा ही।




फ्रेडरिक नीत्शे, जर्मन दार्शनिक: शादियों को जो चीज दुखद बनाती है, वह प्यार नहीं, दोस्ती की कमी है।




फ्रैंज शूबर्ट, ऑस्ट्रियन संगीतकार: वह शख्स भाग्यशाली है जिसे सच्चा दोस्त मिल जाए और वह तो बहुत ही भाग्यशाली है जो ऐसा दोस्त अपनी पत्नी में पा ले।




कैथरीन हेपबर्न, अमेरिकी अभिनेत्री: अगर आप एक आदमी की आलोचना सुनने के लिए बहुत लोगों की प्रशंसा की बलि देना चाहती हैं, तो आगे बढें, शादी कर लें।




ऑस्कर वाइल्ड, आयरिश रचनाकार: अविवाहित लोगों पर भारी कर लगाए जाने चाहिए। यह अच्छी बात नहीं है कि कुछ पुरुष दूसरों से अधिक खुश रहें।




मिर्जा गालिब: हमको मालूम है जन्नत की हकीकत लेकिन दिल के खुश रखने को गालिब ये खयाल अच्छा है।





Tags:                           

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran