blogid : 760 postid : 698

खाते-खाते वजन घटाओ

Posted On: 22 Feb, 2013 मेट्रो लाइफ में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

वजन घटाने के लिए खाना छोड़ना या कम करने की सलाह पूरी दुनिया में दी जाती है, लेकिन कुछ चीजें ऐसी भी हैं जिन्हें खाकर आप वजन घटा सकते हैं। ऐसी ही कुछ चीजों का जिक्र हम यहां कर रहे हैं।

खाने से वजन बढ़ता है, ये तो दुनिया जानती है, लेकिन कुछ ऐसे भोजन भी हैं जिनके सेवन से आपका वजन कम होता है। वजन पर नियंत्रण रखना स्वास्थ्य के लिहाज से बेहद आवश्यक है और क्विक वेट लॉस आजकल एक ट्रेंड-सा बन गया है। हालांकि इसके कई तरीके हैं लेकिन विभिन्न रिसर्चो की मानें तो सही किस्म का भोजन वजन कम करने में सबसे ज्यादा सहायक होता है। कुछ ऐसी चीजें हैं जिन्हें अपनी डाइट में शामिल करने से वजन को नियंत्रित रखा जा सकता है। ऐसे ही कुछ भोज्य पदार्थो का यहां जिक्र किया जा रहा है।

Read:रिश्ते जो दिल के करीब हैं


बींस- बींस को वेट लॉस के लिहाज से सबसे अच्छा माना जाता है। यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया की एक रिसर्च के अनुसार बींस में ऐसे तत्व होते हैं जो कॉलेसिस्टॉकिनिन नाम के डाइजेस्टिव हार्मोन को लगभग दो गुना बढ़ाने में मदद करते हैं। कुछ अध्ययनों के अनुसार बींस ब्लड शुगर के स्तर को मेंटेन करने में मदद करता है ताकि अगर आपको लंबे समय तक भूखा रहना पड़े तो आपके लिए नुकसानदेह न हो। बींस को हाई फाइबर डाइट माना जाता है जो कॉलेस्ट्राल को कम करने में भी मदद करता है।

Read:खूबसूरती की दुश्मन 9 गलतियां


अंडे- अंडे प्रोटीन का खजाना होते हैं। सुबह नाश्ते में अंडे खाना सेहत के लिहाज से बहुत अच्छा होता है। एक रिसर्च में पाया गया कि वे स्त्रियां जो नाश्ते में स्क्रैम्बल्ड एग्ज के साथ दो स्लाइस टोस्ट और कम कैलरी वाला फ्रूट स्प्रेड लेती हैं, उन्हें आम नाश्ता खाने वाली स्त्रियों के मुकाबले कम भूख लगती है। कम भूख लगने से जाहिर है इंसान कम कैलरी कंज्यूम करेगा।


सैलेड- क्या आपको लंच या डिनर के दौरान खुद को स्टफ कर लेने की आदत है? यदि हां, तो अपनी मील की शुरुआत सैलेड से करें। ध्यान रखें कि यह सैलेड क्रीमी ड्रेसिंग के बगैर होना चाहिए। पेन स्टेट यूनिवर्सिटी में 42 स्त्रियों पर हुए एक अध्ययन में देखा गया कि जिन्होंने मील के पहले एक बड़ी प्लेट लो कैलरी सैलेड खाया, वे बाद में लगभग 12 प्रतिशत कम पास्ता ही खा सकीं। अध्ययनकर्ताओं के अनुसार इसकी वजह रहा सैलेड। अमेरिकन डायटिक एसोसिएशन के एक जर्नल में प्रकाशित रिपोर्ट की मानें तो सैलेड में विटामिन सी और ई के अलावा फॉलिक एसिड, लाइकोपीन और कैरोटेनॉयड्स आदि पोषक तत्व मौजूद हैं जो प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं।

ग्रीन टी- ग्रीन टी उन सभी लोगों के लिए बेहतरीन पेय है जो वजन कम करने की इच्छा रखते हैं। ग्रीन टी में कैटेशिंस नाम के एंटीऑक्सिडेंट्स मौजूद होते हैं जो फैट बर्न करने और मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद करते हैं। विभिन्न शोधों से पता चला है कि ग्रीन टी बॉडी मास इंडेक्स को घटाने और हानिकारक एलडीएल कॉलेस्ट्रॉल को कम करने में भी मदद करती है।

Read:कितने फायदेमंद हैं हेल्दी फूड


नाशपाती- नाशपाती फाइबर का खजाना होती है। यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन के अनुसार लगभग छह ग्राम की एक नाशपाती आपकी भूख को संतुष्ट करने के लिए पर्याप्त होती है। संस्था के अनुसार भूख मिटाने के लिए सेब नाशपाती के बाद सबसे अच्छा स्रोत है। दोनों ही फलों में पेक्टिन फाइबर होता है जो ब्लड शुगर के स्तर को कम करता है। असमय भूख लगने पर हाई कैलरी स्नैक्स लेने के बजाय नाशपाती खाएं, आपके शरीर में गैरजरूरी कैलरी पहुंचने से बचेगी।

सूप- एक कप चिकन सूप और एक नॉर्मल साइज चिकन पीस से लगभग एक जैसी ही भूख मिटती है। शोधकर्ताओं की मानें तो चिकन सूप भूख कम करने में सहायक होता है।


लीन बीफ- अगर आप अपने शरीर के एक्स्ट्रा पाउंड्स को कम करने की चाह रखते हैं तो लीन बीफ को अपने डिनर में शामिल कर लीजिए। अगर आप रोजाना 1700 कैलरी की डाइट लेते हैं तो 9-10 आउंस लीन बीफ आपकी डाइट का एक अहम हिस्सा बन सकती है। बीफ खाने वालों को भूख भी कम लगती है, इसलिए भी इसे वेट लॉस फूड की कैटगरी में शामिल किया जाता है।

ऑलिव ऑयल- बढ़ती उम्र में फैट कम करना मुश्किल होता है। ऐसे में ऑलिव ऑयल आपके लिए मददगार साबित हो सकता है। ऑलिव ऑयल मोनोअनसैचुरेटेड फैट्स से बना होता है जो कैलरी बर्न करने में सहायक होता है। ऑलिव ऑयल को सॉते करने या सैलेड ड्रेसिंग के तौर पर बखूबी प्रयोग किया जा सकता है। ऑस्ट्रेलिया में 57 से 73 वर्ष की स्त्रियों पर किया गया, एक अध्ययन यह साबित करता है कि ऑलिव ऑयल मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में मदद करता है। इस अध्ययन में शामिल स्त्रियों को नाश्ते में स्किम्ड मिल्क और ओटमील में ऑलिव ऑयल डालकर दिया गया था।

Read:21 टिप्स हर कपल के लिए जरूरी


दालचीनी- भोजन के बाद मीठा मोटापे का बड़ा कारण होता है। माइक्रोवेव किए हुए ओटमील या होल-ग्रेन टोस्ट पर दालचीनी पाउडर छिड़क कर खाएं, आपको इस ‘क्रेविंग’ से भी छुटकारा मिलेगा और अनचाही कैलरीज से भी। यूएस डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर द्वारा किए गए एक शोध के अनुसार थोड़ी-सी दालचीनी खाकर भोजन के बाद मीठे की क्रेविंग से आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है। दालचीनी सेहत के लिहाज से भी बहुत अच्छी है। एक-चौथाई छोटा चम्मच दालचीनी का पाउडर का रोजाना सेवन टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों में ब्लड शुगर और कॉलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक होता है।

विनेगर- विनेगर के सेवन से लंबे समय तक भूख नहीं लगती। एक स्वीडिश अध्ययन के अनुसार प्लेन ब्रेड खाने वालों के मुकाबले ब्रेड स्लाइस को विनेगर में डुबो कर खाने वालों को भूख कम लगती है। विनेगर में मौजूद एसिटिक एसिड से पाचन में समय लगाता है, जिससे भूख देर से लगती है।

Read:नहीं नहीं मैं बिल्कुल सीधी हूं: करीना कपूर

फासले भी हैं जरूरी


Tags: fat free breakfast, health tips in hindi, health tips, weight loss diet, weight loss tips, weight loss for women, वेट लॉस, कैलरी कंज्यूम, वजन, वजन घटाना, मोटापा



Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Lainey के द्वारा
June 11, 2016

Superbly ilniailmtung data here, thanks!


topic of the week



latest from jagran